Desi bhabhi ke sexy kahani

By | November 12, 2018

Desi bhabhi ke sexy kahani

हेल्लो दोस्तों मैं आज आपको जो कहानी  सुनाने जा रहा हूं यह Desi bhabhi ke sexy kahani पर निर्धारित है और ये मेरे साथ रियल मे हुआ है

मेरा नाम है सागर मैं Part1 में पड़ता हु झारखण्ड के रहना वाला हु मैं middle family से हू मेरे घर में मामी पापा,भैया और एक भाभी भी है।

मैं राजस्थान में पढ़ाई करता हूं  कुछ दिन के लिए घर आया था गर्मी की छुट्टी हुई थी वैसे तो मेरा आने का मन नहीं था पर मेरी मम्मी बोली घर आ जा बेटा बहुत गर्मी होगा वहां पर तो मैं सोचा चलो ठीक है  गर्मी की भी छुट्टी है और घर भी घूम लूंगा तो मैं ट्रेन पकड़ के घर आ गया 15 दिन कि छुट्टी मिली थी।

घर में मम्मी पापा से ज्यादा भाभी की प्यार मिल जाए वह मेरा टाइम पर खाना नाश्ता सब कुछ देते थे और मेरा यहां तक कि कपड़े भी वही साफ कर देती थी बहुत ही मजाकियल भाभी थी दिन भर मजाक करते रहती थी बहुत मस्त और सेक्सी के साथ साथ खूबसूरत भी उनकी  गुलाबी होठ को देख कर मेरा मन किस करना को मन करने लगता और उनकी पहली कमर बहुत ही आकर्षक था।

Desi bhabhi ke sexy kahani

वो जब भी मेरे पास आती तो अपना पल्लू हटा लेती थी ताकि हम उनकी चूची देख पाय और उनके साथ सेक्स करे पर मुझे सर्म आती थी और अच्छा भी नही लगता था क्या, भैया आगर देख ले तो फिर क्या होगा इसलीए दर भी रहता पर भाभी मानती ही नही थी कभी – कभी बिना साड़ी की आ जाती तो कभी ब्लाउज खोल के सिर्फ ब्रा में आ जाती उनका पूरा मन था।

मेरे साथ sex करने का पर,मैं वैसे करना नही चाहता था बहुत बार तो ऐसा भी होता था कि वो बाथरूम में आसनान कर रही है और हमको बोलती टॉवल लेते आने और मै जब टॉवल ले कर जाता तो वो सिर्फ पैंटी में रहती फिर भी पूरी  गेट खोल के टॉवल लेती उनको जरा सा भी शर्म नहीं लगता था।

हम उनकी चूची देख लेते फिर भी नही  धड़कती और बोलती आ जाइए मेरे साथ स्नान करने, पर मैं नही जाता
उनकी चूची बहुत बड़ी थी  वैसे देख कर मेरा लंड खड़ा हो जाता  मैं बर्दाश्त करके रह जाता था था जाता था था जाता था पर मैं उनके बारे में  कभी गलत नहीं सोचा । पर एक दिन कुछ ऐसा हुआ कि हमको चोदना पड़ा ।

एक दिन मम्मी और पापा को शादी में जाना था किसी रिलेटिव का ही शादी था वो दोनों तो चले गए। घर में सिर्फ हम ,भैया ,और भाभी बच्चे ।  भैया का सरविस था वो नाइट ड्यूटी करते थे और शाम होते ही भैया नाइट ड्यूटी पर चले गए , घर में सिर्फ हम और भाभी बचे थे।

रात हो गयी थी भाभी खाना खिला दी फिर हम जैसे सोने आये जोर कि सुसु लग गई हम सुसु करने बाथरूम गये, हम दरबाजा नही लगाये थे सिर्फ सटा दिए थे , भाभी को भी सुसु लग गई वो बाथरूम के पास आ गई और बोली हमको भी बहुत जोर से सुसु लगी है करने दीजिए मैं बोला रुकिये हमको करने दिजिए वो बोली क्या होगा हमको भी करने दिजिए और फिर भाभी बाथरूम घुस गई।

मै सुसु कर ही रहा था भाभी भी बगल में आ के सूसू करने लगी और मेरा लंड दखने लगी और बोलने लगी वाह देवर जी आपका लंड तो बहुत ही मोटा मैंने इतना मोटा लंड कभी  नहीं देखा था , मुझे आपका लंड चाहिए, बहुत मजा आएगा आपके लंड से चुदवाने मे अगर पहले जानती , आप का लंड इतना मोटा है तो मैं आपके भाई से कभी शादी नहीं करती , आपसे ही करती बोलने के बाद मैं बाथरूम से निकल कर अपने बेड पर सोने के लिए आने लगा और मैं आकर सो गया।

पीछे से भाभी भी मेरे रूम में आ गई और मेरे पेंट उतार कर लंड को पकड़ कर अपने मुह में लेली और चूसने लगी उनके चूसने से लंड और भी मोटा और लंबा हो गया मुझे दर सा लग रहा था इसलीए मै चूसने से मना कर रहा था पर भाभी छोड़ ही नही रही थी।

लगभग 20 मिनट तक वो चुस्ती ही रह गयी उसके बाद भाभी मेरा पूरा कपडा उतार दी,और भाभी खुद अपना साड़ी और बुलोज उतार दी सिर्फ ब्रा और पैंटी में थी

भाभी मेरा बदन को चूमने लगी किश करने लगी हमे रिस चढ़ गया मैं झट से उठकर भाभी को बेड पर  सुलाकर और उनके ऊपर चढ़ के पूरा किस करने लगे और और उनकी बदन को धीरे-धीरे अपनी जीभ से  जीभ से से चाटने लगा कुछ देर बाद उनकी ब्रा को खोल दिये और उनकी बूब्स को पकड़ कर मसलने लगा उनकी बूब्स बहुत मुलायम थी।

पर बहुत बड़ा होने के कारण मेरे हाथ में सही से आ नही रहा था उनकी बूब्स कि नूप लंबी था इस कारण से मुझे उनके नूप पीने में मज़ा आता और मई उनकी नूप को बार बार पिते रहता ,कभी कभी तो दाँत भी लगा देता वो चिलाने लगती और बोलने लगती काट  दिजिए गया क्या मेरी नूप को ,

इसी तरह कुछ देर तक पीटे और चाटते कुछ देर बाद उनकी पैंटी उतार दिया और मैं अपना लंड उनकी चूत में डालकर जोर-जोर से आगे पीछे – आगे पीछे करने लगा उनको बहुत अच्छा लग रहा था वह बोल रहे थे आपके भैया मुझे चोदते ही नहीं वे रात में तो ड्यूटी पर ही रहते और सुबह आकर सो जाते उनको चोदने का टाइम ही नहीं मिलता वह मुझे अभी तक ने जब से शादी हुई है मात्र 10 बार ही चोदे हैं मुझे रहा नहीं जाता तो किसी किसी दिन अपने से उनका लंड निकाल कर अपनी अपनी चूत में डाल के अपने से ऊपर नीचे करके करके रिलैक्स कर लेती पर मन नहीं भरता मेरा क्योंकि उनका लंड बहुत छोटा और पतला भी है पर आपके जैसा नही मैं अब से आपके हि लंड से चुदवॉगी आप मुझे चोदिये गा ना, मैंने कहा हा चोद तो रहा हुए और
जोर – जोर से चुदने लगा उनके मुह से आवाजे निकलने लगे आह:.. , ऊओह ,और और जोर से चोदो लगभग
1 घंटे तब चोदे ,उसके बाद मैं थक गया और फिर सो गए

इसी तरह हर रोज भाभी को रात में चोदते थे थे भैया तो नाइट ड्यूटी पर, वो भाभी को चोदते भी नहीं थे इसलिए मैं ही उनका काम पूरा कर देता काम पूरा कर देता था ऐसा लगता था कि मैं ही उनका पति हूं पति हूं भैया सिर्फ नाम के पति।

तो दोस्तों आपको यह कहानी कैसी लगी कमेंट में हमें जरूर बताएं और क्या मैं भाभी के साथ  गलत किए या सही। यह भी जरूर बताएं आप यह कहानी  www.xxkahani.com पर पढ़ रहे हैं

 *(Thank you)*

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *